Warning: file_put_contents(): Only 0 of 10 bytes written, possibly out of free disk space in /srv/users/serverpilot/apps/sachchai/public/wp-content/plugins/merge-minify-refresh/merge-minify-refresh.php on line 916

Warning: file_put_contents(): Only 0 of 10 bytes written, possibly out of free disk space in /srv/users/serverpilot/apps/sachchai/public/wp-content/plugins/merge-minify-refresh/merge-minify-refresh.php on line 916

Warning: file_put_contents(): Only 0 of 10 bytes written, possibly out of free disk space in /srv/users/serverpilot/apps/sachchai/public/wp-content/plugins/merge-minify-refresh/merge-minify-refresh.php on line 460

Warning: file_put_contents(): Only 0 of 10 bytes written, possibly out of free disk space in /srv/users/serverpilot/apps/sachchai/public/wp-content/plugins/merge-minify-refresh/merge-minify-refresh.php on line 460
You are here
कोहरा आउट ,पीली लाइट

कोहरा आउट ,पीली लाइट

जमीर सिद्दीकी, कानपुर कोहरे से निपटने को रेलवे हाथ-पैर मारकर थक गया और सर्दी आने के पहले ही दिसंबर से फरवरी तक करीब 50 ट्रेनों को निरस्त कर दिया है लेकिन रोडवेज ने कोहरे से लड़ने का प्रयास नहीं छोड़ा है और इस बार रोडवेज अधिकारियों की कोशिश है कि शक्तिशाली पीली हेड लाइट लगाकर कोहरे को चीरा जाए। क्षेत्रीय प्रबंधक कानपुर परिक्षेत्र नीरज सक्सेना ने फजलगंज, विकासनगर, आजाद नगर, किदवई नगर, उन्नाव और फतेहपुर  डिपो में  बसो की इस्तिथि देखि

Read More
बुझ न सकी प्यास ,घोटालों की आंच

बुझ न सकी प्यास ,घोटालों की आंच

कानपुर : घोटालों की आंच में जलापूर्ति परियोजना ऐसी झुलसी कि आठ साल में साढ़े आठ अरब रुपये शहरवासियों की प्यास बुझाने के लिए खर्च हो चुके है लेकिन अभी तक एक बूंद पानी जनता को नहीं मिली हालांकि शहर में कई जगह सड़क पर फाउंटेन जरूर बन गए थे। 60 करोड़ लीटर की पेयजल योजना जमीन में दफन होती नजर आ रही है। बीते चार माह से रूक-रूककर आधा दर्जन बार जमीन में दबे पाइपों की टेस्टिंग की गई तो जमीन दबे पाइप की टेस्टिंग की गयी तो जमीन…

Read More
गली वालों की बहादुरी ने गिरोह के छुड़ाये होश

गली वालों की बहादुरी ने गिरोह के छुड़ाये होश

कानपुर बावरिया गिरोह के कहर से कराह रहे सुरक्षा गार्ड के परिवार की चीखपुकार सुनकर घर के सामने रहने वाली रीता सिंह ने टार्च जला बदमाशों के दिमाग को भटकाया। पति अजय सिंह पर घर में सामान तलाश रहे बदमाश ने बुरी तरह पथराव कर दिया तो उन्होंने शोर मचा दिया। और मोटर मैकेनिक नितिन ने बदमाशों पर पथराव कर शोर मचाया। उसकी एक ईंट तो बदमाश के सिर पर लगी। जिससे वह घायल हो गया। जो गिरफ्तार बदमाशों की शिनाख्त में बड़ा सबूत साबित हुआ। ———– चश्मदीद क्या बोले…

Read More
जितना भी लोड कर लो पर ट्रकों में डाल दो कोड

जितना भी लोड कर लो पर ट्रकों में डाल दो कोड

कानपुर मौरंग व गिंट्टी के ओवरलोड ट्रकों की पहचान के लिए उन पर बड़े बड़े अक्षरों में कोड डाला गया है। और यही कोड देखकर अधिकारी समझ जाते हैं कि किसका ट्रक है और उसके साथ कैसा बर्ताव करना है। यहा पर जिनके सौ से दो सौ ट्रक चल रहे हैं, उन्हें प्रवर्तन दल जल्दी नहीं छू पाता लेकिन दस-पंद्रह ट्रक चलाने वाले जरूर प्रवर्तन दल के जाल में फंस जाते हैं। नौबस्ता बाईपास पर झांसी, उरई, हमीरपुर आदि क्षेत्रों के हजारों ओवरलोड ट्रक गुजरते नजर आते हैं। किसी ट्रक…

Read More
बगिया ऐसे सुन्दर दिखे

बगिया ऐसे सुन्दर दिखे

छोटा तालाब बगीचों में पानी की शोभा सौंदर्य का एक नया आयाम देती है. बगीचा छोटा हो तो एक छोटी टंकी या बड़ा टब रखकर तालाब बनाया जा सकता है. टब को मिट्टी में गाड़ दें और उसके किनारों को पत्थरों से छुपा दें. तालाब साफ़ रहे इस बात का ध्यान रखना जरूरी है. तालाब के लिये बगीचे में ऐसी जगह का चुनाव करें जहाँ चार पाँच घटे अच्छी धूप आती हो. इस पानी में कमल तथा अन्य वनस्पति उगाई जा सकती है. सौंदर्य बाड़ का बगीचों के किनारों और गलियों…

Read More
अबतक की देशी तोप में आस्ट्रिया की तकनीक

अबतक की देशी तोप में आस्ट्रिया की तकनीक

देश की पहली आधुनिक तोप कानपुर में बनेगी। यह पर फील्ड गन फैक्ट्री में इलेक्ट्रो स्लग रिमेल्टिंग प्लांट लगाने की तैयारी चल रही है। आस्ट्रिया की इंटेको कंपनी को फील्ड गन फैक्ट्री ने इसका आर्डर भेजा है। आमद होने के बाद फैक्ट्री में प्लांट स्थापित किया जाएगा। इससे बैरल में स्टील की शुद्धता और बेहतर होगी। वह बैरल की इंगेट को अब आधुनिक तरीके से तैयार करेगा। कम समय में फैक्ट्री में तोप की बैरल बनाने के लिए लोहे का इंगेट मैनुअल तरीके से तैयार किया जाता है। बाद में…

Read More
मांगा सुखी जीवन प्रभु को छप्पन भोग अर्पित कर

मांगा सुखी जीवन प्रभु को छप्पन भोग अर्पित कर

कानपुर श्री दोसर वैश्य बिहारी जी मंडल के तत्वावधान में श्री गोकुल प्रसाद धर्मशाला सरसैया घाट में आयोजित महाप्रसाद उत्सव में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। श्रद्धालु भगवान जगन्नाथ, सुभद्रा और बलभद्र जी की मनोहारी झांकियों के दर्शन कर निहाल हो गए। प्रभु को छप्पन भोग अर्पित कर उनकी आरती उतारी और सुखी जीवन की कामना भी की। वहा पर भजन गायक सुनील स्नेही ने ‘मीठे रस से भरी रे राधा रानी लागे..’ और ‘बांके बिहारी कजरारे तोरे मोटे मोटे नैन नजर कहीं लग न जाए ..’ आदि भजन सुनाकर…

Read More
लुभाया लंच पैकेट और उपहार से

लुभाया लंच पैकेट और उपहार से

कानपुर चुनाव शांति से कराने के लिए जहां एल्डर्स कमेटी पूरी ताकत लगाए थी वहीं मतदान के लिए प्रत्याशी समर्थकों ने आचार संहिता को तार-तार कर दिया। वकीलों के अतिरिक्त लॉ कालेज के छात्र, राजनीतिक दलों के क्षेत्रीय नेता और बाहरी लड़कों ने जुलूस में शामिल होकर वोट मांगा। मतदाताओं को लुभाने के लिए प्रत्याशी व उनके समर्थकों ने उपहार भी बांटे। मतदान करने पहुंचे मतदाताओं को पेपर वेट, लेटर पैड, पेन, डायरी आदि के साथ लंच पैकेट दिए गए। अधिकतर मतदाता उपहार लेकर मतदान स्थल पर पहुंचे जहां चुनाव…

Read More
नई मार्केट की शान सरकार के हवाले

नई मार्केट की शान सरकार के हवाले

कानपुर, : नई मार्केट के सुंदरीकरण का भविष्य अब प्रदेश सरकार की कैबिनेट के हवाले है। दरअसल, नई मार्केट की भूमि राजस्व अभिलेखों में नजूल के रूप में दर्ज है, ऐसे में जब तक यह भूमि केडीए के नाम नहीं हो जाती, यहां सुंदरीकरण का कार्य नहीं हो पाएगा। केडीए भूमि नि:शुल्क चाहता है, इसलिए फैसला कैबिनेट को करना है। माना जा रहा है कि योजना मुख्यमंत्री की प्राथमिकता से जुड़ी होने के कारण केडीए को जल्दी ही भूमि नि:शुल्क मिल जाएगी। केडीए नई मार्केट को कुछ इस तरह सजाना संवारना…

Read More
कैलेंडर का गार्डनिंग

कैलेंडर का गार्डनिंग

कैलेंडर  का गार्डनिंग : महीना सब्जी जनवरी: फरवरी: करेला, लौकी, टिंडा, खीरा, फ्रेंच बींस, भिंडी, तरबूज और साग माचर्: जनवरी वाली सब्जिया अप्रैल: शिमला मिर्च मई: प्याज, काली मिर्च, बैगन जून: लौकी, करेले की सभी किस्में, खीरा, गोभी, भिंडी, प्याज, सेम, टमाटर और काली मिर्च जुलाई: लौकी, करेले की सभी प्रजातिया, खीरा, भिंडी, सेम, टमाटर अगस्त: गाजर, गोभी, मूली, टमाटर सितंबर: पत्ता गोभी, गाजर, फूल गोभी, मटर, मूली, टमाटर अक्टूबर: चुकंदर, बैगन, पत्ता गोभी, फूल गोभी, मटर, साग, मूली, शलजम नवंबर: शलजम, टमाटर, मूली, काली मिर्च, मटर, चुकंदर दिसंबर: टमाटर

Read More

Warning: file_put_contents(): Only 0 of 10 bytes written, possibly out of free disk space in /srv/users/serverpilot/apps/sachchai/public/wp-content/plugins/merge-minify-refresh/merge-minify-refresh.php on line 614

Warning: file_put_contents(): Only 0 of 10 bytes written, possibly out of free disk space in /srv/users/serverpilot/apps/sachchai/public/wp-content/plugins/merge-minify-refresh/merge-minify-refresh.php on line 614

Warning: file_put_contents(): Only 0 of 10 bytes written, possibly out of free disk space in /srv/users/serverpilot/apps/sachchai/public/wp-content/plugins/merge-minify-refresh/merge-minify-refresh.php on line 765